Tuesday, July 16, 2024
HomeUncategorizedपीठाधिपति महामंडलेश्वर स्वामी भवानीनन्दन यतिजी महाराज का 22 सितंबर को आविर्भाव दिवस...

पीठाधिपति महामंडलेश्वर स्वामी भवानीनन्दन यतिजी महाराज का 22 सितंबर को आविर्भाव दिवस (प्राकट्य उत्सव) मनाया जायेगा

रिपोर्ट गुड्डू यादव
स्वतंत्र पत्रकार विजन

गाजीपुर । अध्यात्म जगत में पवित्र तीर्थस्थल के रूप में स्थापित प्रसिद्ध सिद्धपीठ हथियाराम मठ में राधाष्टमी की पावन बेला पर 22 सितंबर को पीठाधिपति महामंडलेश्वर स्वामी भवानीनन्दन यतिजी महाराज का आविर्भाव दिवस (प्राकट्य उत्सव) मनाया जायेगा। इस अवसर पर वैदिक विद्वान ब्राह्मणों द्वारा धार्मिक अनुष्ठान किया जायेगा। वहीं देश के कोने कोने से आने वाले श्रद्धालु भक्तों द्वारा महाराजश्री की चरण वंदना के साथ ही बुढ़िया माता का की पूजा आराधना किया जाएगा। गौरतलब है कि ख्याति प्राप्त सिद्धपीठ हथियाराम मठ के 26वें पीठाधीश्वर व जूना अखाड़े के वरिष्ठ महामंडलेश्वर स्वामी भवानीनंदन यति जी महाराज द्वारा सिद्धपीठ पर इन दिनों अपना चातुर्मास महानुष्ठान यज्ञ संपादित किया जा रहा है। इसमें प्रकांड वैदिक विद्वानों द्वारा द्वादश ज्योतिर्लिंग भव्य रुद्राभिषेक, उत्तर पूजन, महाआरती, कथा-प्रवचन का आयोजन चल रहा है, जिसका श्रवण व दर्शन कर श्रद्धालुजन अपने को धन्य महसूस कर रहे हैं। वैदिक मंत्रों के उच्चारण और हवन पूजन से पूरा क्षेत्र भक्तिमय हो गया है। इसी के मध्य में भाद्रपद शुक्ल अष्टमी (राधाष्टमी) तदनुसार 22 सितंबर को सिद्धपीठ के पीठाधीश्वर का आविर्भाव दिवस (प्राकट्य उत्सव) शिष्य श्रद्धालुओं द्वारा ससमारोह मनाया जायेगा। इस मौके पर संत-महात्माओं, हथियाराम कन्या पीजी कालेज की छात्राओं तथा श्रद्धालु भक्तों द्वारा महाराजश्री का पूजन-वंदन कर उनके दीर्घायु की कामना की जाएगी। पीठाधीश्वर के आविर्भाव दिवस कार्यक्रम का शुभारम्भ सुबह साढ़े आठ बजे से वैदिक ब्राह्मणों द्वारा गुरु पूजन, स्वस्तिवाचन व मंगलाचरण से होगा। इसके उपरान्त स्वामी भवानीनंदन यति द्वारा ब्रह्मलीन गुरु महाराज स्वामी बालकृष्ण यति के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलन कर पूजन किया जायेगा। पूजन-प्रवचन के बाद समारोह का समापन विशाल भंडारे के साथ होगा, जिसमें हजारों श्रद्धालु महाप्रसाद ग्रहण करेंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments